Fake IFS Arest By The Police

देश को एक से बढ़कर एक आईएएस अधिकारी देने वाली लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक एकेडमी का गलत कारणों से चर्चा में आने का क्रम लगातार जारी है. कई माह तक फर्जी आईकार्ड के जरिए ट्रेनी आईएएस अधिकारी बनकर एकेडमी में रही रूबी चौधरी का मामला अभी निपटा भी नहीं है कि एक बार फिर एक युवक ने एकेडमी पहुंचकर खुद को भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) में चयनित बताकर एडमिशन के लिए अंदर घुसने का प्रयास किया. लखनऊ निवासी इस युवक के पास कोई कागजात नहीं होने और अपने पास भारतीय लोकसेवा आयोग से आई लिस्ट में इसका नाम नहीं होने के चलते एकेडमी प्रशासन ने उसे हैप्पीवैली पुलिस चौकी के हवाले कर दिया. फिलहाल युवक पुलिस हिरासत में है, लेकिन मामले में एकेडमी की तरफ से कोई तहरीर नहीं दी गई है.

खुद को बताया आईएफएस में चयनित

लखनऊ निवासी युवक रोमी महेंद्रू पुत्र स्व. राजेंद्र कुमार महेंद्रू सैटरडे 5 सितंबर को देर शाम एलबीएस एकेडमी मुख्य द्वार पर पहुंचा और खुद को भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) 2014 में सलेक्टिड बताया. उसके एकेडमी में प्रवेश का प्रयास करने पर सुरक्षा कर्मियों ने उसे अगले दिन आने को कहा. संडे को रोमी फिर से एकेडमी गेट पर पहुंचा और प्रवेश की मांग की. द्वार पर तैनात कर्मियों ने उससे अपना पहचान पत्र और यूपीएससी से दिया गया चयन पत्र दिखाने को कहा, लेकिन युवक मात्र वोटर आईडी कार्ड ही दिखा पाया. इससे शक होने पर एकेडमी कर्मचारियों ने पास ही स्थित हैप्पीवैली पुलिस चौकी से पुलिस बुला ली और उसे पुलिस के हवाले कर दिया. http://inextlive.jagran.com/fake-ifs-arest-by-the-police-91190