power cut in jharkhand

राज्य भर के 3000 मैनडेज कर्मियों के हड़ताल पर जाने के बाद सभी जिलों के सब स्टेशन व ग्रिड ठेकेदारों के हवाले कर दिए गए हैं. मंगलवार को बिजली बोर्ड मुख्यालय के सामने हड़ताल पर मैंडेज कर्मियों के बैठने के बाद यह वैकल्पिक व्यवस्था की गई है. इसके तहत राज्य भर के ग्रिड व सब स्टेशन ठेकेदार के आदमी संभालेंगे. लेकिन, इसमें भी डर सता रहा है कि कहीं ये भी काम न छोड़ दें. क्योंकि इनका भी पैसा बकाया है.

ठेकेदारों का भी है बकाया

बिजली विभाग में काम करने वाले एक ठेकेदार ने बताया कि अप्रैल में जब सभी कर्मचारी हड़ताल पर चले गए, तो हमलोगों से काम करवाया गया था. लेकिन हमलोग को उस समय का पैसा अब तक विभाग द्वारा भुगतान नहीं किया गया है. अब दोबारा हमलोगों को जिम्मेवारी सौंपी गई है. लेकिन बगैर पैसा हम लोग भला काम कैसे कर पाएंगे.

सीएमडी से वार्ता विफल

मंगलवार की सुबह से ही रांची सर्किल में काम करने वाले सभी मैनडेज कर्मी बोर्ड मुख्यालय के पास जमा होने लगे. दोपहर तक दूसरे जिलों से भी कर्मचारी रांची पहुंचे.  http://inextlive.jagran.com/power-cut-in-jharkhand-92891